मंडप में दूल्हे की राह देखती रही दुल्हन, रस्मों के बीच 10वीं का पेपर देने गया दूल्हा, जाने क्यों हुआ ऐसा??

शादी समारोह के दौरान हाथों में मेहंदी और सजे मंडप में बैठी एक दुल्हन अपने दूल्हे का इंतजार करती नजर आई। यह जानने पर पता चला कि दूल्हा शादी की रस्में बीच में छोड़कर 10वीं की परीक्षा देने चला गया है.

छतरपुर। मध्य प्रदेश के छतरपुर जिले के कल्याण मंडपम में आयोजित एक सामूहिक विवाह समारोह के दौरान हाथों में मेहंदी से सजे मंडप में बैठी एक दुल्हन अपने दूल्हे का इंतजार करती दिख रही है। यह जानने पर पता चला कि दूल्हा शादी की रस्में बीच में छोड़कर 10वीं की परीक्षा देने चला गया है. आखिर 3 घंटे बाद वह परीक्षा देकर लौटा तो कहीं जाकर दूल्हा-दुल्हन को माला पहनाई गई और एक साथ 7 फेरे पूरे किए गए.


आपको बता दें कि छतरपुर शहर स्थित कल्याण मंडपम में बुंदेलखंड परिवार का सामूहिक विवाह सम्मेलन चल रहा था. समुही विवाह समारोह के दौरान, 11 जोड़े वैवाहिक बंधन में बंधे होते हैं। इन्हीं में से एक जोड़ी रामजी सेन और प्रीति सेन की भी थी। 21 साल का दूल्हा रामजी सेन 19 साल की दुल्हन प्रीति सेन के साथ शादी के बंधन में बंधने वाला था। लेकिन, शादी की रस्मों के बीच दूल्हा-दुल्हन को बीच में ही छोड़कर मंडप, वह परीक्षा देने गया था। इस दौरान दुल्हन मंडप में बैठ गई और दूल्हे के लौटने का इंतजार करने लगी।


दुल्हन दूल्हे के इंतजार में

दुल्हन प्रीति सेन के मुताबिक शनिवार को पति रामजी का 10वीं क्लास में सोशल साइंस का पेपर था. लेकिन, उनकी शादी भी इसी दिन तय हुई थी। परीक्षा की तारीख आने से पहले ही शादी की तारीख भी तय हो गई थी। हम सुबह-सुबह विवाह स्थल पर पहुंच गए। यहां उन्होंने प्री-वेडिंग प्रोग्राम में शिरकत की, जिसके बाद वे परीक्षा देने गए। तीन घंटे बाद पेपर देकर लौटा और फिर शादी की रस्में निभाईं। इस दौरान दुल्हन ने अपने पति की सफल परीक्षा की कामना की।


परीक्षा देकर लौटा, फिर संपन्न कराई शादी की रस्म

परीक्षा देकर लौटे दूल्हे रामजी सेन ने कहा कि आज जीवन की दो परीक्षाएं थीं। पहली परीक्षा तुम्हारी पढ़ाई के लिए और दूसरी परीक्षा जीवन भर की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.