Breaking News
Home / खबरे / Sonu Sood: मजबूरी में ‘विलेन’ बने सोनू सूद को ऊपर वाला तो ‘हीरो’ ही बनाना चाहता था!

Sonu Sood: मजबूरी में ‘विलेन’ बने सोनू सूद को ऊपर वाला तो ‘हीरो’ ही बनाना चाहता था!

पिछले 2 वर्षों से देश को कोरोना नाम की इस भयंकर महामारी ने हिला कर रख दिया है। हर क्षेत्र में कोरोना महामारी का प्रभाव देखा जा सकता है। यह समय ऐसा था जब सब सुविधा होते हुए भी लोग हर चीज को मोहताज होने लगे थे। गरीब मजदूर वर्ग इस दौर में बहुत ज्यादा परेशान हुआ। वह अपने गांव में जाने के लिए इस दौर में पैदल ही निकल पड़ा था ।ना खाना पीना था। ना हीं कोई और सुविधा थी ।


वह ईश्वर रूपी शक्ति के भरोसे अपने छोटे-छोटे बच्चे ,बूढ़े मां -बाप को लेकर गांव की ओर निकल पड़े थे। लेकिन उनकी मदद करने को सरकार की ओर से कोई नहीं आया। ऐसे में इनका मसीहा एक्ट्रेस सोनू सूद ईश्वर की तरह प्रकट हुआ। इस समय में सोनू सूद द्वारा अपने गांव की ओर पलायन कर रहे लोगों की बहुत मदद की थी ।इनके द्वारा उन लोगों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए परिवहन की व्यवस्था करवाई गई। इसके साथ ही साथ परेशान हो रहे लोगों के लिए खाने पीने की सभी व्यवस्था भी पूरी तरह से की गई थी।

सोनू सूद फिल्म इंडस्ट्री में एक विलेन की भूमिका में नजर आते थे। लेकिन वास्तविक जीवन में वे बिल्कुल इसके ऑपोजिट ही नजर आए। उन्होंने महामारी की इस मुसीबत की घड़ी में लोगों का सहारा बनकर उनके मन में ईश्वर के स्वरूप जगह बनाई है। कोरोना महामारी के कारण जब देश में लाक डाउन लगाया गया तब ऐसी परिस्थिति में सोनू सूद जरूरतमंदों के लिए मसीहा का रूप धारण करके प्रकट हुए सोनू सूद द्वारा अपने स्तर पर हर उस जरूरतमंद की मदद करने का प्रयास किया गया जो उनकी पहुंच में था ।


उनकी यह मदद करने का सिलसिला आज भी बरकरार है। आज भी सोशल मीडिया पर इनके द्वारा की गई मदद के वीडियो प्रसारित होते रहते हैं। चाहे किसी को इलाज करवाना हो ,किसी जरूरतमंद का ऑपरेशन करवाना हो, किसी बेरोजगार को रोजगार दिलाने के लिए मदद करना है ,किसी जरूरतमंद की स्कूल की फीस भरनी है ,जैसे अनेक समस्याओं का हल उनके द्वारा करने के प्रयास किए गए हैं। इस महामारी ने देश में हाहाकार मचा दिया था।


एकबारगी तो देश की सरकार भी प्रवासियों को अपने घर तक पहुंचाने के लिए उचित बंदोबस्त नहीं कर पा रही थी ।ऐसे समय में सोनू सूद ने अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर इस तरह से व्यवस्था करी की करीब 1.5 लाख लोगों को उन्होंने उनके घर तक पहुंचाया है। ऐसा ही नहीं था कि यह केवल मजदूरों या प्रवासियों की मदद कर रहे थे ।सोनू सूद द्वारा तो स्वास्थ्य कर्मियों के लिए भी सुविधा चलाई गई थी सोनू सूद ने हेल्थ वर्कर्स के लिए जुहू स्थित अपने एक होटल को उनके लिए समर्पित कर दिया था जहां हेल्थ वर्कर्स आकर रह सकते थे और खाना भी खा सकते थे,


सोनू सूद ने नगर पालिका और निजी अस्पतालों से संपर्क कर देश के लिए अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं स्वास्थ्य कर्मियों के लिए सभी सुविधाएं मुहैया कराने का प्रयास किया उनका मानना था कि हमारे स्वास्थ्य कर्मी अपनी जान जोखिम में डालकर हमें स्वस्थ करने का प्रयास कर रहे हैं उनके लिए सुविधाएं मुहैया कराने में सोनू सूद स्वयं को भाग्यशाली मानते हैं।
कोरोना काल एवं लाक डाउन के दौरान किए गए अपने कार्यों की वजह से सोनू सूद आज लोगों के दिल में भगवान की तरह अपनी जगह बनाई हुए हैं। उनकी इस कार्य के कारण लोग उन्हें ईश्वर की तरह पूजा कर रहे हैं ।तो कुछ लोग उनके लिए मंदिर भी बनवा रहे हैं ।तो कुछ लोग अपने नवजात बच्चों का नाम सोनू सूद के नाम पर रख रहे हैं।


एक व्यक्ति ने अपने द्वारा खरीदे गए ऑटो रिक्शा में सोनू सूद के पोस्टर लगाए हैं ।तो कुछ लोग उन्हें भगवान स्वरूप मानते हुए उनसे मिलने के लिए नंगे पैर ही आ रहे हैं ।जब लॉकडाउन के समय मदद करते हुए सोनू सूद से भी संक्रमित हो गए थे तो तब उनके एक प्रशंसक जो कि झारखंड निवासी है ।उन्होंने सोनू सूद की सलामती के लिए नवरात्रि का व्रत तक किया था ।उनसे मदद प्राप्त करने वाला हर कोई उन्हें अपने भगवान की तरह सर्वोच्च स्थान पर रखता है लेकिन इस ईश्वर तुल्य व्यक्ति की शख्सियत देखिए। इतना प्यार एवं सम्मान पाने के बावजूद भी एक्टर सोनू सूद में किसी भी प्रकार का घमंड नहीं दिखाई देता है।


वे कहते हैं कि उन्हें यह तबीयत उनके माता-पिता के संस्कारों से प्राप्त हुई है। उनके माता-पिता द्वारा उन्हें यही सिखाया गया है कि मुसीबत में पड़े हर व्यक्ति के हमेशा ही मदद करनी चाहिए। अपने माता-पिता के संस्कारों पर चलकर ही सोनू सूद ने ऐसे कई लोगों की मदद की मदद की जिन्हें वे जानते भी नहीं थे लेकिन उन्होंने उनके दर्द को समझा और अपनी तरफ से हर संभव प्रयास कर उनकी मदद की। उनके द्वारा की गई है मदद एवं लोगों को उनके द्वारा अपना भगवान या मर्सिया मानना इस बात को साबित कर देता है कि चाहे उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में विलेन का रोल किया हो लेकिन वास्तविक जीवन में भी “हीरो “ही है।

sore

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *