ब्रेस्टफीड को लेकर श्वेता तिवारी ने कही ये बड़ी बात, मेरी बच्ची को भूख लगी थी इसलिए मैंने…

0
1

श्वेता तिवारी ने कहा कि उन्हें ब्रेस्टफीडिंग करना पसंद है, एक मां के तौर पर उन्हें ऐसा करने में मजा आता है। उसने अपने बेटे को साढ़े तीन साल तक स्तनपान कराया। जब मुझे कोरोना हुआ तब वह साढ़े तीन साल का था। तब तक मैंने उसे स्तनपान कराया है।

श्वेता तिवारी ने अपनी जिंदगी में काफी उतार-चढ़ाव देखे हैं। हर मुश्किल हालात का सामना करने वाली एक्ट्रेस खुलकर बोलने के लिए जानी जाती हैं. अपने कई फैसलों के कारण वह कई बार विवादों में भी रहीं, लेकिन इसके बावजूद उन्होंने कभी सिर झुकाना नहीं सीखा। हाल ही में एक इंटरव्यू में उन्होंने अपनी जिंदगी से जुड़े कई मुद्दों पर बेबाक तरीके से बात की. इतना ही नहीं उन्होंने ब्रेस्टफीडिंग को लेकर भी अपनी राय रखी।

श्वेता तिवारी ने कहा कि उन्हें ब्रेस्टफीडिंग करना बहुत पसंद है, एक मां के तौर पर उन्हें ऐसा करने में मजा आता है। उन्होंने बॉलीवुड बबल को दिए इंटरव्यू में बताया कि वह एक बेटी और बेटे की मां हैं। उसने अपने बेटे को साढ़े तीन साल तक स्तनपान कराया। जब मुझे कोरोना हुआ तब वह साढ़े तीन साल का था। तब तक मैंने उसे स्तनपान कराया है।

श्वेता तिवारी ने ब्रेस्टफीडिंग एरिया को लेकर उठाए सवाल

उन्होंने आगे कहा कि हर जगह स्मोकिंग एरिया है, लेकिन ब्रेस्टफीडिंग एरिया नहीं बनाया गया है. जबकि हर दूसरी महिला का एक बच्चा होता है। एक स्तनपान क्षेत्र होना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि अगर मुझे अपने बच्चे को स्तनपान कराना है, तो मैं चाहे किसी भी रेस्तरां में बैठी हो। मैं तुरंत अपना कवर उतार देती हूं, खुद को ढक लेती हूं और स्तनपान कराती हूं।

अगर किसी को ब्रेस्टफीडिंग देखकर असहज महसूस हो रहा है तो ध्यान न दें

जब उनसे पूछा गया कि क्या आपने कभी किसी को इस वजह से असहज होते देखा है। तब श्वेता तिवारी ने कहा कि कोविड के समय वह साढ़े तीन साल के थे, तब तक मैंने उन्हें स्तनपान कराया है। अगर लोग असहज हो जाते हैं, तो वे उठ सकते हैं और निकल सकते हैं। उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे नहीं पता कि इसने किसी और को असहज किया है या नहीं। मैं कुछ भी गलत नहीं कर रहा हूँ। मैं ड्रग्स नहीं ले रहा हूं। मैं अपने भूखे बच्चे को खाना खिला रहा हूं। मुझे यह करना है। अगर कोई असहज हो रहा है, तो मुझे क्षमा करें, उठो और जाओ।’

स्तनपान के कई फायदे

इसके साथ ही उन्होंने स्तनपान के फायदे भी बताए। उन्होंने कहा कि मेरी नजर में ब्रेस्ट फीडिंग बहुत हेल्दी है। शुरुआत में बहुत सी चीजें होती हैं, दर्द होता है, खून बहता है, नई लड़कियां जो मां बनी हैं, कहती हैं कि बहुत दर्द होता है, मैं अपने बच्चे को स्तनपान नहीं करा सकती। जब यह शुरू होता है तो यह वास्तव में दर्दनाक होता है, लेकिन यह कुछ दिनों के लिए होता है, लेकिन फिर सुखद होता है। आप अपने आप को इस भावना से वंचित नहीं कर सकते।’

बता दें कि श्वेता तिवारी की पहली शादी से एक बेटी पलक तिवारी है। 2007 में श्वेता ने अपने पहले पति को तलाक दे दिया और 2013 में उन्होंने दूसरी शादी कर ली। श्वेता को दूसरी शादी से एक बेटा रेयांश है। हालांकि 2019 में श्वेता तिवारी अपने दूसरे पति अभिनव कोहली से अलग हो गईं। श्वेता के दो बच्चे उनके साथ रहते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here