खबरे

Google की 300 गलतियां सर्च कीं, इनाम में मिले 65 करोड़ रु शुरू की अपनी Startup कंपनी

कंपनियों को तकनीकी रूप से मजबूत बनाने वाले अमन पांडे ने गूगल कंपनी के एंड्रॉइड प्रोडक्ट में 300 गलतियां खोजी हैं। इसके लिए गूगल ने तोहफे के तौर पर इनाम दिया है। एनआईटी भोपाल से बीटेक करने वाले अमन पांडे ने जनवरी 2021 में इंदौर में बग्स मिरर नाम से स्टार्टअप शुरू किया, ताकि कंपनियों की तकनीकी कमजोरियों का पता लगाया जा सके और उन्हें इसकी जानकारी दी जा सके।


अमन का कहना है कि गूगल हर साल अपने प्रोडक्ट्स में बग्स ढूढ़ने के लिए ऐसा प्रोग्राम चलाता है। हाल ही में Google ने अपने 2021 प्रोग्राम के बारे में जानकारी जारी की है। Google ने अपनी सभी सेवाओं में बग की रिपोर्ट करने के लिए $87 मिलियन का इनाम दिया है। इसमें Android भेद्यता पुरस्कार कार्यक्रम (VRP) भी शामिल है।

इसमें दुनिया भर से मेरे जैसे लगभग 100 तकनीकी विशेषज्ञों ने भाग लिया। इन सभी विशेषज्ञों को गूगल की ओर से 65 करोड़ रुपये का इनाम दिया गया है। Google ने अपने ब्लॉग में यह भी उल्लेख किया है कि हमने सबसे अधिक बग खोजे हैं। इसके लिए गूगल ने हमें आर्थिक मदद दी है। अभी तक हमारी कंपनी कुछ लाख रुपये की थी लेकिन अब यह करोड़ों रुपये हो गई है।

कॉलेज के समय से ही रुचि – अमन झारखंड के रहने वाले हैं और इंदौर से अपना स्टार्टअप शुरू करना चाहते थे। इस बारे में उनका कहना है कि इंदौर में बैंगलोर और अन्य शहरों की तुलना में बेहतर वातावरण है। यहां स्टार्टअप्स के लिए काम करने की काफी संभावनाएं हैं। उन्होंने बताया कि जब मैं कॉलेज के फर्स्ट ईयर में था तो मुझे एक ऐसा ऐप मिला था, जिसके जरिए किसी की लोकेशन ट्रेस की जा सकती थी।

यहीं पर मुझे एहसास हुआ कि कई कंपनियों और लोगों को इस बात की जानकारी नहीं है कि वे जिस ऐप को चला रहे हैं उसमें कई खामियां हैं। इन कमियों को दूर करने के लिए स्टार्टअप शुरू किए गए हैं। अमन का कहना है कि हम Google, Apple, Samsung और कई कंपनियों के उत्पादों की सुरक्षा में सुधार के लिए काम करते रहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *