UPSC Success Story: UPSC की तैयारी घर में रहकर भी कर सकते हैं, जानिए IAS अंशुमान राज से सफलता का मंत्र

सिविल सेवा की तैयारी करने वाले उम्मीदवारों को अक्सर दूसरे बड़े शहरों में पढ़ाई करते हुए, महंगी किताबों और कोचिंग का सहारा लेते हुए देखा जाता है। वहीं बहुत कम ऐसे छात्र होते हैं जो कम साधनों में देश की सबसे बड़ी परीक्षा को पास कर लेते हैं। ऐसे छात्रों में IAS अंशुमान राज का नाम भी लिया जाता है। अंशुमन यूपीएससी की तैयारी के लिए कभी किसी बड़े शहर में नहीं गए। उनकी कहानी और उनके सुझाव लाखों छात्रों के लिए प्रेरणादायी हैं।

अंशुमन राज बिहार के बक्सर जिले के रहने वाले हैं। बहुत कम संसाधनों में पढ़ाई करने वाले अंशुमान ने अपनी इंटर की पढ़ाई बक्सर से ही की। 12वीं के बाद वे ग्रेजुएशन के लिए कोलकाता चले गए। ग्रेजुएशन के बाद उन्होंने अपने गांव लौटने का फैसला किया और यहीं रहकर यूपीएससी की तैयारी करने लगे।

घर पर रहकर इंटरनेट की मदद से तैयारी शुरू की। उन्होंने कभी कोई कोचिंग नहीं की। उनके इस जज्बे को देख गांव के लोग हैरान रह गए. ग्रामीणों को लगा कि ऐसी तैयारी से अंशुमन का चयन संभव नहीं होगा। लेकिन अंशुमान को भरोसा था कि उनका चयन हो जाएगा।

यूपीएससी की तैयारी उनके लिए आसान नहीं थी, पहले उन्हें तीन बार असफलता का सामना करना पड़ा, लेकिन वे निराश नहीं हुए और धैर्य के साथ मेहनत करते रहे। अंशुमन को सिविल सेवा के चौथे प्रयास में सफलता मिली।

अंशुमान राज को पूरा भरोसा था कि एक दिन सफलता जरूर मिलेगी। आखिरकार 2019 में उनका चयन हो गया। उन्हें ऑल इंडिया 107 रैंक मिली। अंशुमन के मुताबिक यूपीएससी में सफलता पाने के लिए आपको अपनी तैयारी सही प्लानिंग के साथ करनी चाहिए।
अंशुमान का कहना है कि मेहनत के साथ स्मार्ट वर्क भी बहुत जरूरी है। सीमित किताबों से तैयारी करनी चाहिए। जरूरत पड़ने पर इंटरनेट की मदद लें। उनके मुताबिक आज के दौर में आपको इंटरनेट पर जरूरत की हर चीज मिल जाएगी चाहे आप गांव में हों या शहर में। वे सफलता के लिए स्मार्ट वर्क को बहुत जरूरी मानते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published.