HomeराशिफलChandra Grahan 2021 November: चंद्रग्रहण पर इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत,...

Chandra Grahan 2021 November: चंद्रग्रहण पर इन चार राशियों की चमकेगी किस्मत, बाकी को करने होंगे ये उपाय

इस सदी का सबसे ज्यादा लंबा आंशिक चंद्रग्रहण (Longest Partial Lunar Eclipse) 18-19 नवंबर को दिखाई ददेगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह अमेरिका के 50 राज्यों मे भी दिखाई देगा। इतना लंबा चंद्रग्रहण 580 सालों के बाद ही हो रहा है। इसलिए दुनियाभर के वैज्ञानिक इस नजारे को अपने कैमरे में भी दर्ज करने के लिए तैयार बैठे हैं। यह आंशिक चंद्र ग्रहण 3 घंटे, 28 मिनट और 23 सेकेंड लंबा भी होगा।

इस सदी का सबसे लंबा आंशिक चंद्रग्रहण (Longest Partial Lunar Eclipse) 18-19 नवंबर को ही दिखाई देगा। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह अमेरिका के 50 राज्यों में भी दिखाई देगा। इतना लंबा चंद्रग्रहण 580 सालों के बाद हो रहा है. इसलिए दुनियाभर के वैज्ञानिक इस नजारे को अपने कैमरे में दर्ज करने के लिए तैयार ही बैठे हैं। यह आंशिक चंद्र ग्रहण 3 घंटे, 28 मिनट और 23 सेकेंड लंबा भी होगा।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा (NASA) के अनुसार यह 580 साल के बाद इतना लंबा चंद्र ग्रहण हो भी रहा है। लेकिन जिस समय अमेरिका में लोग चंद्र ग्रहण देख रहे होंगे, उस समय भारत के लोग दिन में अपना काम भी कर रहे होंगे।

इस चंद्र ग्रहण को द माइक्रो बीवर मून (The Micro Beaver Moon) भी कहते हैं। क्योंकि यह धरती से अधिकतम दूरी पर भी रहता है। इसी समय में अमेरिका में ऊदबिलावों यानी बीवर को भी पकड़ा जाता है। इसलिए इसका नाम कुछ इस तरह से भी रखा गया है।

राशियों पर ग्रहण का कुछ ऐसा असर होगा

मेष : आर्थिक संपन्नता आएगी, रुके हुए पैसे मिल सकते हैं.
वृष : धन हानि के कारण परेशानी बढ़ेगी. शारीरिक कष्ट संभव.
मिथुन : ग्रहण काल में बाहर निकलने से बचें, दुर्घटना हो सकती है.
कर्क : फिजूल खर्ची से धन की हानि होगी, फिजूलखर्ची रोकनी होगी.
सिंह : किसी शुभ सूचना के साथ ही लाभ और उन्नति का योग है.
कन्या : पहले से चल रहा रोग और कष्ट बढ़ सकता है. संयमित रहें.
तुला : चिंता के साथ ही संतान से परेशानी होगी. डॉक्टर से संपर्क में रहें.
वृश्चिक : काफी दिनों से चल रही परेशानी-आर्थिक तंगी राहत देगी.
धनु : शादी के योग के साथ शादीशुदा जीवनसाथी को कष्ट हो सकता है.
मकर : पहले से बीमार हैं तो रोग में इजाफा होने के साथ चिंता बढ़ेगी.
कुंभ : घर में मेहमानों के आने से खर्च अधिक होगा. बचत की उपाय है.
मीन : कई वर्षों से चल रही काम की दिक्कत दूर होगी. नई योजनाएं बनाएं

इंडियाना के बटलर यूनिवर्सिटी स्थित होलकॉम्ब ऑब्जरवेटरी के मुताबिक आंशिक चंद्रग्रहण (Partial Lunar Eclipse) का मतलब यह होता है कि जब धरती की परछाई चांद के सिर्फ 97 फीसदी हिस्से को कवर ही करे। यह इस सदी का सबसे लंबा आंशिक चंद्रग्रहण भी होगा। इससे पहले साल 2018 में एक घंटे और 43 मिनट का चंद्रग्रहण ही लगा थथा।जबकि, इस बार होने वाला चंद्रग्रहण 3 घंटे 28 मिनट और 23 सेकेंड लंबा होगा। ऐसी घटना 580 साल के बाद ही देखने को मिल रहा है।

चंद्रग्रहण तब होता है जब सूरज और चांद के बीच धरती आ जाती है और धरती की परछाई की वजह से चांद की रोशनी जमीन पर बिल्कुल नहीं दिखती। धरती की परछाई पूरे चांद को भी कवर कर सकती है। फिर आंशिक रूप से यह कवर करती है। जिससे कई बार चांद लाल रंग का भी दिखाई देता है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सूरज की रोशनी धरती की परछाई के गहरे हिस्से से सीधे नहीं टकराती. वह मुड़कर हमारे वायुमंडल से होकर गुजरती है. जैसे ही लाल और नारंगी वेवलेंथ धरती के वायुमंडल से गुजरता है तो वह महोगनी लाल रंग पैदा करता है, जिससे चांद लाल दिखाई देता है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments