Breaking News
Home / देश दुनिया / बंपर कमाई: 9 साल पहले खरीदे थे ₹6 लाख के Bitcoin, अब 216 करोड़ में बिके।

बंपर कमाई: 9 साल पहले खरीदे थे ₹6 लाख के Bitcoin, अब 216 करोड़ में बिके।

नई दिल्ली, बिटकॉइन आज दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी है। इसने दुनिया में तमाम लोगों को छप्परफाड़ मुनाफा भी दिलाया है। ऐसे ही एक बिटकॉइन अकाउंट के बारे में जानकारी अभी सामने आई है जो बंपर मुनाफे के चलते व्हेल अकाउंट में शामिल भी हो गया है। खबर में आगे हम व्हेल अकाउंट के बारे में भी बताएंगे लेकिन पहले ये जान लीजिए कि इस खाता धारक ने बिटकॉइन के जरिए कितनी बंपर कमाई की है।

2012 में खोला गया था खाता

यह खाता 2012 में उस समय खोला गया था दुनिया को खत्म होने की एक भविष्यवाणी ने हलचल मचा रखी थी। इस खाते में 10 दिसम्बर 2012 में 616 बिटकॉइन भी डाले गए थे। उस एक बिटकॉइन की कीमत 13.30 डॉलर (980 रुपये) थी और इस तरह से 616 बिटकॉइन के हिसाब से खाते में कुल संपत्ति की कीमत 8195 डॉलर लगभग 6 लाख रुपये तक थी।

इसके बाद से खाता स्लीप मोड में ही चला गया और 9 वर्षों तक इसमें कोई भी लेन-देन नहीं किया गया। लेकिन 9 साल के बाद अब अचानक ये खाता एक्टिव भी हुआ है। सभी बिटकॉइन का दूसरी खाते में लेनदेन किया है। इस तरह से एक झटके में ही खाते में 358,655 प्रतिशत का लाभ भी दर्ज हुआ है।

6 लाख बढ़कर हुए 216 करोड़ रुपये

वर्तमान में बिटकॉइन की कीमत के अनुसार यह राशि 2.94 करोड़ डॉलर यानि 216 करोड़ रुपये ठहरती है। यानि इस अकाउंट के चलते 9 साल में 6 लाख रुपये बढ़कर 216 करोड़ रुपये हो गए हैं।
जब इस खाते में बिटकॉइन पहली बार डाले गए थे तो शायद ही किसी को अंदाजा भी रहा होगा कि 9 साल बाद यह अकूत मुनाफा भी देने वाली है। उस दौर में शायद ही किसी को इस क्रिप्टोकरेंसी को इतना आगे निकल जाने का यकीन भी रहा होगा। लेकिन इसने एक बात तो साबित कर दी है कि जिसने भी क्रिप्टोकरेंसी पर लंबे दौर के लिए भरोसा किया था वो आज सोने की खान पर ही बैठे हैं और बाजार को हिलाने की क्षमता भी रखते हैं।

पहली बार नहीं हुआ ऐसा

हालांकि यह पहली बार नहीं है कि इस तरह के खाते को लंबे समय के बाद पुनर्जीवित भी किया गया है और लाखों डॉलर का भारी लेनदेन भी किया गया है। इस साल जुलाई में ऐसे खातों की गतिविधियों पर नजर रखने वाले व्हेल अलर्ट ने एक और ऐसे खाते की सूचना दी, जो 9 लंबे वर्षों के बाद अस्तित्व में भी आया था। इसमें लगभग 250 करोड़ रुपये के 791 बिटकॉइन शामिल थे। इसके अलावा जुलाई में ही व्हेल खातों के एक समूह जो दिसंबर 2019 से निष्क्रिय थे, अचानक सक्रिय हुए थे औऱ उन्होंने 62,789 करोड़ रुपये के बिटकॉइन खरीद डाले।

About neha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *