केनेडा जाने वाले छात्रो को वहां पैसे कमाने में बहुत ज्यादा मुश्किल होती है, देखिए वहां की जिंदगी कैसी होती है

पंजाब से लेकर केनेडा तक के छात्रों की जिंदगी आसान नहीं है। इन छात्रों को बहुत मेहनत करनी पड़ती है। कनाडा की एक शिक्षिका ने अपने छात्रों की कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर करते हुए कहा है कि, ये छात्र सबसे होनहार हैं। शिक्षक लिखता है कि, वह अपने सबसे होनहार छात्रों में से एक है। जो 12 घंटे की शिफ्ट में काम करता है। आधी रात से सुबह 7 बजे तक काम करता है। फिर 9 घंटे 2 घंटे की बस की सवारी के लिए कॉलेज आता है।

ऊपर दी गई तस्वीरें पंजाब के कई मेहनती छात्रों के जीवन का वर्णन करती हैं। पंजाब में जहां नशीले पदार्थों का चलन है। वहां बाहर जाने का चलन भी सबसे ऊपर है। अगर इन दोनों प्रवृत्तियों के पीछे एक सामान्य कारण है। तो वह है बेरोजगारी और अविश्वसनीय भविष्य। बेहतर भविष्य के सपने लेकर चलता यह युवक कभी चिंता किए बिना नहीं सोता। इन ऊर्जावान युवाओं की असली कहानी बयां करने वाली ये तस्वीरें खूब शेयर की जा रही हैं।

कई छात्र जो कनाडा में गलत तरिके से आते हैं। कनाडा सरकार विदेशी छात्रों को पढ़ाई के अलावा सप्ताह में केवल 20 घंटे काम करने की अनुमति देती है। लेकिन फीस वसूलने के चक्कर में 20 घंटे के अलावा बहुत कम पैसे में ज्यादातर छात्र दो नंबर पर वहां ड्यूटी पर भी हैं।

एक बार माता-पिता अपने बच्चों को पैसे लगाकर विदेश में पढ़ाई के लिए भेजते हैं। लेकिन इन छात्रों को वहां जाने के अलावा रहने और खाने की लागत को पूरा करने के लिए होटल, स्टोर आदि में जरूरत से ज्यादा काम भी करना पड़ता है। वहां बैठे लोग इन छात्रों की मजबूरी का फायदा उठाने में कोई कसर नहीं छोड़ते हैं। आधे वेतन पर इन छात्रों से बहुत ज्यादा काम कराया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.