सिनेमा में कदम रखने के बाद हर दिन रोती थीं रेखा, मुंबई को मानती थीं ‘जंगल’; जानें क्या थी वजह


बॉलीवुड की मशहूर एक्ट्रेस रेखा ने अपनी फिल्मों और अपने अंदाज से लाखो लोगों का दिल जीतने में कभी कोई कसर नहीं छोड़ी थी। रेखा ने फिल्म ‘दो शिकारी’ से हिंदी सिनेमा में पहला कदम भी रखा था। इसके बाद वह बॉलीवुड की कई हिट फिल्मों में बहुत बार नजर आईं थीं। रेखा ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि, वह कभी भी एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थीं। लेकिन मां के कारण उन्हें एक्टिंग में भी अपना कदम रखना पड़ा था। मां के कहे मुताबिक, उन्होंने सिनेमा में तो कदम रख तो दिया था। लेकिन यहां उनके साथ ऐसा बुरा सुलूक होता था कि, वह रोजाना रोते हुए अपनी बहुत सारी रात गुजारती थीं।

रेखा से जुड़ी इस बात का खुलासा अन्नू कपूर ने 92.5 बिग एफएम के शो सुहाना सफर पर दिए इंटरव्यू में किया था। के फिल्मी सफर के बारे में बात करते हुए अन्नू कपूर ने आगे बताया था, की “उनकी कुछ फिल्मों की शूटिंग मुंबई में भी हुई थी। जहां तक अनुभव भी बहुत खराब ही था। रेखा उस वक्त बच्ची थीं। थोड़ी मोटी भी हुआ करती थीं। ऐसे में उनकी मां की ओर से कहा गया था कि एक्ट्रेस को केवल नपा-तुला खाना ही दिया जाएगा ओर कुछ नहीं।”

रेखा के बारे में बात करते हुए अन्नू कपूर ने आगे बताया था, कि “चॉकलेट और आइसक्रीम से रेखा को बहुत दूर रखा भी जाता था। मुंबई की भाषा समझने और बोलने में रेखा को बहुत समस्या हो रही थी। वह कुछ बोल और समझ बिल्कुल भी नहीं पाती थीं। ऐसे में कई बार लोगों से उन्हें गंदी भाषा में बाते सुनने को भी मिलती थी। रेखा ने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि मुंबई उनके लिए एक जंगल की तरह था।”

बता दें कि सिमी गरेवाल के चैट शो पर रेखा ने बताया था कि उनकी मां ने फिल्मों में आने के नाम पर उन्हें बहुत लालच दिया था। जिससे वह उनके जाल में फंस गई थीं। रेखा ने कहा था कि “मां ने मुझसे बताया था कि अगर मैंने फिल्म में काम किया। तो मुझे साउथ अफ्रीका जाने को मिलेगा। जहां मैं जानवरों तक को भी देख सकूंगी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.